Custom Search 1

टीईआईएन3

टीईआईएन3

ट्रांस यूरेशिया इन्फॉर्मेशन नेटवर्क (TEIN) की शुरुआत वर्ष 2000 में सिओल में आयोजित एशिया यूरोप मीटिंग समिट (ASEM) में की गई थी ताकि यूरो-एशियन रिसर्च नेटवर्किंग में सुधार लाया जा सके। इसका पहला परिणाम था वर्ष 2001 में फ्रांस-कोरिया कनेक्शन (TEIN1) जिसे उपयोगकर्ताओं की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए आगामी वर्षों में अनेक बार अपग्रेड किया गया था। एशिया यूरोप मीटिंग समिट (ASEM) 6 का आयोजन सितंबर, 2006 में हेलसिंकी में हुआ जहां TEIN2 का अधिकारिक उद्घाटन हुआ जिससे TEIN1 को एशिया-पैसेफिक क्षेत्र में अनुसंधान एवं शिक्षा के लिए वृहद क्षेत्रीय स्तर पर प्रथम क्षेत्रीय डेटा-कम्यूनिकेशंस नेटवर्क तैयार करने में द्विपक्षीय सफलता प्राप्त हुई।

TEIN2 के निम्नलिखित तीन मुख्य उद्देश्य थे :

  • यूरोप और एशिया के बीच रिसर्च और एजुकेशन के लिए डायरेक्ट इंटरनेट कनेक्टिविटी को बढ़ावा देना।
  • एशिया के भीतर इन्ट्रा-रीजनल कनेक्टिविटी में सुधार करना और
  • एशिया-पैसेफिक क्षेत्र में विकासशील देशों में नेशनल रिसर्च नेटवर्किंग के विकास के लिए एक केटालिस्ट के रूप में कार्य करना।

TEIN2 के अंतर्गत, नेशनल रिसर्च और एजुकेशन नेटवर्क (NREN) में 11 एशिया-पैसेफिक देश यूरोपियन रिसर्च नेटवर्क GEANT से जुड़े थे। यूरोपियन कमीशन को आंशिक तौर पर यूरोप और एशिया के बीत कनेक्टिविटी से फंडिंग की जा रही थी। 2009 में आरंभ  TEIN3 को अभी 2 वर्ष हुए थे और उसका प्रसार दक्षिण एशिया में होने लगा था जिससे उसके पार्टनरों की कुल संख्या 18 हो गई थी। आस्ट्रेलिया, चीन, इंडोनेशिया, जापान कोरिया, लाओस, मलेशिया फिलीपिन्स, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम TEIN2 के पार्टनर देश थे। अब TEIN3 में एशियाई देश जैसे बांग्लादेश, भूटान, कम्बोडिया, भारत, नेपाल, पाकिस्तान और श्री लंका भी जुड़ रहे हैं।

TEIN3 के प्वाइंट ऑफ प्रेजेंस (PoP) मुंबई में ई.आर.नेट के प्वाइंट ऑफ प्रेजेंस के साथ स्थित हैं और पाकिस्तान को छोड़कर दक्षिण एशिया में  रिसर्च नेटवर्क को कनेक्ट करने के लिए हब के रूप में कार्य कर रहा है। मुंबई से, 2.5 जीबीपीएस के दो हाई स्पीड लिंक यूरोप और सिंगापुर में चालू किए गए हैं, जो सिंगापुर में GEANT और TEIN3 प्वाइंट ऑफ प्रेजेंस को डायरेक्ट कनेक्टिविटी उपलब्ध कराते हैं। भारत अब यूरोप और एशिया-पैसेफिक देशों के बीच कनेक्टिविटी के लिए हब के रूप में कार्य कर रहा है। यूरोपियन यूनियन TEIN3 के अंतर्गत कनेक्टिविटी की आंशिक फंडिंग की जाती है। ई.आर.नेट इंडिया का नेटवर्क मुंबई में TEIN3 के प्वाइंट ऑफ प्रेजेंस के साथ जुड़ा हुआ है।